तेज प्रताप अब बने राम, तेजस्वी को बताया लक्ष्मण:मंत्री जीवेश मिश्रा और रामसूरत राय को बताया मारीच-सुबाहु; कहा- राम-लक्ष्मण करेंगे वध

तेजप्रताप यादव ने बिहार सरकार के मंत्री जीवेश मिश्रा को भकचोन्हर कहा है। उन्होंने ट्वीट कर मंत्री पर निशाना साधा। यही नहीं उन्होंने कहा कि ‘भकचोन्हर जीवेश मिश्रा तो बहुत बड़ा जोकर दिव्यांग पॉलिटिशियन है। जीवेश मिश्रा सुबाहु और रामसूरत राय मारीच है। राम और लक्ष्मण करेंगे दोनों राक्षसों का वध। तेज प्रताप ने लिखा- 15 लाख नौजवानों के अकाउंट में देने का झूठा वादा करने वाले चले हैं और सत्य और नैतिकता का पाठ सिखाने। वाह रे सुबाहु और मारीच !’

बता दें कि जीवेश मिश्रा बिहार सरकार में श्रम संसाधन मंत्री हैं और रामसूरत राय राजस्व व भूमि सुधार मंत्री हैं। इन दोनों की तुलना तेजप्रताप ने दो ऐसे राक्षसों से की है जिन राक्षसों का संहार भगवान राम और उनके भाई लक्ष्मण ने मिलकर किया था।

मरीच और सुबाहु के बारे में जान लीजिए
मुनि विश्वामित्र राजा दशरथ के दरबार में जब आते हैं तो बताते हैं कि जब वे वन में यज्ञ करते हैं तो राक्षस सब कुछ तहस-नहस कर देते हैं। विश्वामित्र, यज्ञ की रक्षा के लिए राजा दशरथ से श्री राम और लक्ष्मण को साथ भेजने का आग्रह करते हैं। यह सुन राजा दशरथ उन्हें श्रीराम-लक्ष्मण को भेजने से इंकार कर देते हैं। वे कहते हैं कि वे यज्ञ की रक्षा के लिए पूरी सेना ले जाएं लेकिन श्री राम और लक्ष्मण को नहीं। इस पर गुरु वशिष्ठ ने राजा दशरथ को समझाया था उनके समझाने पर राजा दशरथ श्रीराम और लक्ष्मण को मुनि विश्वामित्र के साथ राक्षसों से मुक्ति से लिए भेज देते हैं। वन में दोनों भाई ताड़का सहित मारीच और सुबाहु नाम के राक्षस का वध करते हैं।

खुद की तुलना राम-लक्ष्मण से की !
तेजप्रताप यादव का विश्वास धर्म में काफी रहता है। कभी वे शिव का रूप धरते हैं तो कभी कृष्ण का। वे कहते भी हैं कि तेजस्वी उनके अर्जुन हैं और वे खुद सारथी कृष्ण। लेकिन इस बार लग रहा है कि तेजप्रताप यादव ने अपनी और तेजस्वी की तुलना राम- लक्षमण से कर दी है।

कुछ दिन पहले दोनों मंत्रियों ने तेजप्रताप पर कटाक्ष किया था
तेजप्रताप यादव का बयान इसलिए दिया है कि क्योकि तेजस्वी यादव ने दिल्ली से पटना आने के बाद बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने का मुद्दा उठाया था। कहा था कि अब यह बिहार को क्यों नहीं मिल रहा है। इसके बाद भाजपा के दोनों मंत्रियों जीवेश मिश्रा और रामसूरत राय ने दोनों भाईयों पर कटाक्ष करते हुए भ्रम की स्थिति पैदा करने का आरोप लगाया था।

जीवेश मिश्रा ने यह भी पूछा था कि जब लालू प्रसाद यादव केंद्र में कद्दावर मंत्री थे, तब बिहार को स्पेशल स्टेटस क्यों नहीं मिला? मंत्री ने तेजप्रताप यादव को सबसे बड़ा पलटूराम तक कहा था। इसी के बाद अब तेजप्रताप यादव ने दोनों मंत्रियों की तुलना राक्षसों से कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.